Member Profile for Kumudini

Kumudini

 See my "About Me" page

Member Since:

November 8, 2005
Contact: Send E-mail
Earnings to date:
(includes forecasts
and referral bonuses)
$59.82
See nickname history - Add to People List - Add to Block List

Blogs

My photos - May 20, 2023
...
Travel - Popularity rank: 89

Dr.K.Padmini PhD-A Trilingual Writer - May 18, 2023
Story of Swayambhu Stupa mountain - There is a Buddha statue erected in...
Fiction - Popularity rank: 90

Seven Stages of my Life-Dr.K.Padmini PhD - May 8, 2023
Journey to Hyderabad - Rajkumar who is neighbor and old friend of Ooty...
Everything Else - Popularity rank: 92

Items

Picture
சிறு கதைகள் - May 19, 2023

by Kumudini786 words, short story

நடுத்தர வர்க்கத்தின் கதைகள். விரைவில் படிக்க சிறு கதைகள். பள்ளி அனுபவம், திருமண வாழ்வில் காதல்.

Buy now $2.00

Excerpt

கதைகளைப் படித்து கமெண்ட் செய்து என்னை ஊக்குவிக்கும்படிக் கேட்டுக் கொள்கிறேன்.

Picture
CBSE class IX Hindi notes - May 8, 2023

by Kumudini314 words, chapter

Question-Answers. CBSE class IX Hindi notes will be helpful for the students.. CBSE class IX Hindi notes.

Buy now $2.00

Excerpt

रैदास पहले पद का आशय (व्याख्या/ भावार्थ): प्रभु जी,अब हमारे मन में आपके नाम रट लग गई है, वह कैसे छूट सकती है? ‌प्रभु जी,तुम चंदन हो और मैं पानी हूं। तुम में और मुझ में वही संबंध स्थापित हो चुका है जो चंदन और पानी में होता है। जैसे चंदन के संपर्क में रहने से पानी में उसकी सुगंध फैल जाती है, उसी प्रकार मेरे तन-मन में तुम्हारे प्रेम के सुगंध व्याप्त हो गई है। ‌प्रभु जी, तुम आकाश में छाए काले बादलों के समान हो। मैं जंगल में नाचने वाला मोर हूं। जैसे वर्षा बरसाते बादलों को देखकर मोर खुशी से नाचने लगते